Monday, October 15, 2007

सरकारी तोहफा

इसे चुनावी दांव कहे या केन्द्र सरकार का केन्द्रीय कर्मचारियों को दिपावली का एडवांस तोहफा. छठॆ वॆतन आयोग ने केन्द्रीय कर्मचारियों के वेतनों में दो गुने से भी अधिक बढ़ोतरी का प्रस्ताव किया है.


वॆतन आयोग द्वारा प्रस्तावित वेतनमान कुछ इस तरह से हैं.
* सरकार में 37 वेतनमानों और ग्रेडों को घटाकर 16 कर दिया जाएगा.
* प्रस्ताव जनवरी, 2006 से प्रभावी होंगे. महंगाई भत्ता जनवरी,2007 से दिया जाएगा.
* चाहे किसी कर्मचारी ने नौकरी कभी ज्वॉइन की हो, लेकिन सभी को 31 दिसंबर को रिटायरमेंट दिया जाएगा.
* हर कर्मचारी को अपने मूल वेतन की 10 फीसदी राशि प्रोविडेंट फंड में जमा करानी होगी.
* आयोग ने हालांकि रिटायरमेंट की उम्र बढ़ाने की सिफारिश नहीं की है, लेकिन वरिष्ठ अफसर यह उम्र 60 से बढ़ाकर 62 करने के लिए लॉबिंग कर रहे हैं.
* आयोग ने सुझाव दिया है कि ए-1श्रेणी के शहर में आवास किराया भत्ता (एचआरए) मूल वेतन का 30 फीसदी (अधिकतम 12,000) होना चाहिए.
* ए और बी-1 श्रेणी के शहरों में आवास किराया भत्ता मूल वेतन का 15 फीसदी (अधिकतम 8,000 रुपए) होना चाहिए.
* रिटायर होने वाले कर्मचारियों की पेंशन आखिरी वेतन का 50 फीसदी (अधिकतम 40,000) होगी.
* पारिवारिक पेंशन आखिरी वेतन की 30 फीसदी (अधिकतम 24,000) होगी.

यदि आप केन्द्रीय कर्मचारी हैं तो ये आपके लिए यह दिपावली का सबसे बड़िया प्रस्तावित तोहफा हो सकता है.

3 comments:

हिन्दी टुडे said...

मगर प्रदेशों के राज्य कर्मचारियों को क्या मिलेगा?

Mired Mirage said...

यदि नहीं हैं, तो यह आपकी कमाई पर डाका होगा । हम ही तो यह वेतन देंगे व पेंशन भी ।
घुघूती बासूती

Kamod said...

@हिन्दी टुडे- राज्य कर्मचारी प्रदेश सरकार की दया पर निर्भर है जबकि निजी आयोजनों पर तथाकथित नेतागण पानी की तरह जनता का पैसा बहा रहे हैं.


@घुघूती बासूती- अभी तो ये केवल प्रस्तावित है.