Sunday, December 28, 2008

कल की माथापच्ची राज भाटिया जी के नाम

*****कल की माथापच्ची राज भाटिया जी के नाम*****

कल की माथापच्ची पूरी तरह से राज भाटिय़ा जी के ना120px-Golden_Dropम रही. जो एकमात्र विजेता रहे. पहले राज जी भी भटक गये थे.

शुभम आर्य जी जी श्रीफल बताते है.

विनय आडू बतातेहै

"अर्श" जी गुलेर कहpp1ते हैं.

राज भाटिय़ा जी पहले Damson की सम्भावना व्यक्त करते हैं.
इसका सही उत्तर प्लुम है जिसे आलूबुखारा भी कहते हैं. चाइना मूल का माने जाने वाला प्लुम दक्षिण अफ्रिका, एशिया, चिली और यूरोप में आसानी से पाया जाता है.
प्लुम Plums अगस्त, सितम्बर के महिनों में खाने के लिए तैयार होता है. साधारणतppया प्लुम 6-15 मी. ऊँचे पेड़ों में 4-6 सेमी. लम्बी पत्तियों के साथ 3-5 के गुच्छों में 3-6 सेमी. लम्बा होता है. प्लुम लाल, बैंगनी, पीला और हरे रंग का कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, आइरन विटामिन 300px-Plum_cakeसी आदि से भरपूर होता है. इसकी लगभग 200 किस्में होती हैं जिनमें से 140 किस्मों से प्लुम अमेरिका में बेची जाती हैं. यहाँ यह ड्राई फ्रूट्स के रूप में पसन्द किया जाता है.
प्लुम से अचार, जैम, आइसक्रीम, पुडिंग, चोकलेट बनाई जाती है.

 

3 comments:

Anonymous said...

badiya jankari..

Arvind Mishra said...

भाई केवल जानकारी के लिए बता दूँ कि यह पहेली तस्लीम पर काफी पहले पूँछी जा चुकी है !

राज भाटिय़ा said...

इन दोनो फ़लो के चित्रो मै बहुत कम फ़र्क है,
धन्यवाद